Free Ration / यूपी में सरकार अब नहीं देगी मुफ्त राशन , लोगों को देने होंगे इतने रूपये

Free Ration / यूपी में सरकार अब नहीं देगी मुफ्त राशन , लोगों को देने होंगे इतने रूपये

उत्तर प्रदेश में मुफ्त राशन लेने वालों के लिए एक बुरी खबर है | अब यूपी सरकार अपने कोटे से राशन कार्ड धारकों को मुफ्त राशन नहीं देगी | कार्ड धारकों को अब पहले की तरह राशन के लिए भुगतान करना होगा | प्रदेश के लोगों को दो रूपये प्रति किलो गेहूं और तीन रूपये प्रति किलो की दर से चावल के लिए देना होगा | जुलाई माह का राशन 25 अगस्त से 31 अगस्त के बीच बांटा जाएगा , इसके लिए कार्ड धारकों को पैसा देना होगा| सभी जिला आपूर्ति अधिकारियों को भी इस संबंध में दिशा-निर्देश जारी कर दिए गए हैं | हालाँकि लोगों को राज्य में केंद्र सरकार की तरफ से मिलने वाला राशन अब भी मुफ्त मिलेगा |

यह भी पढ़ें :- UP Caste Certificate OBC/SC/ST Apply Online / यूपी जाति प्रमाणपत्र ऑनलाइन आवेदन

विधानसभा चुनाव में भाजपा के लिए ट्रंप कार्ड बनी मुफ्त राशन वितरण योजना अब धीरे-धीरे बंद की जा रही है | राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत प्रदेश सरकार द्वारा आवंटित राशन कार्ड कार्ड धारकों को अब भुगतान करना होगा | हालांकि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में अभी मुफ्त में ही राशन बांटा जाएगा | राज्य में महीने में दो बार मुफ्त राशन बंट रहा था | एक राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत प्रदेश सरकार द्वारा नियमित राशन वितरण , तो दूसरा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत |

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना कोरोना महामारी के दौरान शुरू की गई थी | यह योजना पिछले साल नवंबर माह तक चलाई जानी थी लेकिन नवंबर माह में ही सीएम योगी ने चुनाव से पहले घोषणा कर दी कि अब प्रदेश सरकार मुफ्त राशन देगी | साथ में चना , नमक, रिफाइंड भी फ्री मिलेगा | बाद में प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का भी विस्तार कर दिया गया और कार्ड धारकों को माह में दो बार दोनों योजनाओं से मुफ्त में राशन मिलने लगा | प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार सितंबर 2022 तक किया गया है |

Free Ration / यूपी में सरकार अब नहीं देगी मुफ्त राशन , लोगों को देने होंगे इतने रूपये

प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में अभी मुफ्त मिलेगा राशन

नेफेड के तहत मिल रहा 1 किलो नमक , 1 किलो चना, रिफाइंड आदि मुफ्त में ही नहीं दिया जाएगा | लेकिन राशन का पैसा देना होगा | प्रदेश में पात्र गृहस्थी लाभार्थी यूनिट लगभग 14.97 करोड़ तथा अंत्योदय कार्ड धारकों की संख्या लगभग 1.31 करोड़ है |

Leave a Comment